हिंदू धर्म शास्त्रों में पूजा-पाठ का विशेष महत्व बताया गया है। ज्योतिष शास्त्र में भी प्रतिदिन पूजा-पाठ करना बहुत ही शुभ माना गया है। प्रतिदिन घर में धूप व दीप करने से घर में सकारात्म ऊर्जा बनी रहती है, जिससे घर में सुख- समृद्धि का वास होता है। इस कारण वास्तुशास्त्र में भी घर के पूजा स्थान या मंदिर को एक बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान माना गया है। इस जगह बैठकर हम अपने सभी दुःख परेशानियों को भुला कर ईश्वर की आराधना करते है। शास्त्रों के अनुसार घर के मंदिर में कुछ शुभ चीज़ों को रखने से घर में बरकत और सुख-समृद्धि बनी रहती है और माँ लक्ष्मी का आशीर्वाद सदैव बना रहता है। तो आइये जानते है इन चीज़ों के बारे में –

गंगाजल- हिंदू धर्म में गंगाजल को बहुत पवित्र माना गया है। लगभग हर घर के मंदिर में गंगाजल जरूर रखा होता है। ऐसा माना जाता है कि घर के मंदिर में गंगाजल रखने से उस घर में माँ लक्ष्मी की विशेष कृपा बनी रहती है। घर के पूजा स्थल में किसी चांदी या पीतल के बर्तन में गंगाजल रखना शुभ माना गया है। इससे घर में सुख-शांति का वास होता है।

मोरपंख-मोरपंख भगवान श्रीकृष्ण को अतिप्रिय है। वास्तु के अनुसार घर के पूजा स्थल में मोरपंख रखना बहुत शुभ रहता है। इससे घर को किसी की बुरी नज़र नहीं लगती और साथ ही घर में पॉजीटिविटी फैलती है। मोरपंख को रखने से घर में कीड़े-मकोड़े और चिपकी भी नहीं आती है।

शालिग्राम-तुलसी के पौधे की पूजा लगभग हर घर में होती है और जो लोग अपने घरों में तुलसी रखते है, उनके घरों में शालिग्राम भी ज़रूर होता है। घर के मंदिर में शालिग्राम रखना बेहद शुभ माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि रोजाना तुलसी के पत्तों को जल में मिलाकर भगवान् शालिग्राम को स्नान करवाने से घर में सुख-समृद्धि का वास होता है और श्रीहरि व धन की देवी माता लक्ष्मी की असीम कृपा प्राप्त होती है और सभी आर्थिक परेशानियों से मुक्ति मिलती है।

दक्षिणावर्ती शंख- घर के मंदिर में दक्षिणावर्ती शंख रखना बहुत शुभ माना जाता है, इसे स्वयं मां लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है। शंख भगवान श्रीहरि को अतिप्रिय है।। कहा जाता है कि घर के मंदिर में शंख रखने से घर का वातावरण अच्छा होता है और सकारात्मकता बनी रहती है। घर में सुख समृद्धि आती है।