शनि देव को न्याय का देवता माना जाता है। शनि देव लोगों को उसके कर्मों के हिसाब से फल देते हैं। मान्यता है कि शनि देव प्रसन्न होते है तो सभी बिगड़े काम बन जाते हैं और तरक्की भी होती है। वहीं, जिनके जन्म कुंडली में शनि की दुष्प्रभाव होने से बनते हुए काम भी बिगड़ने लगते हैं और एक के बाद एक मुसीबतों का सामना करना पड़ता है।

ज्यादातर लोग शनि की महादशा में परेशान रहते हैं। क्योंकि वे शनि देव के प्रकोप से डरते हैं। मगर आज हम आपको ज्योतिष शास्त्र में मौजूद ऐसे खास उपायों के बारे में बताएंगे जिनके जरिए आप शनि की टेढ़ी नजर से बच सकते हैं। ये उपाय इस प्रकार हैं…

उपाय- 1

शनिवार की शाम को साबूत उड़द के दो दाने लेकर उस पर थोड़ा सा दही और सिंदूर लगाएं और इसके बाद इसे पीपल के वृक्ष के नीचे रख आएं। इस उपाय को किसी शनिवार से आरंभ करके लगातार 21 दिनों तक करें। मान्यता है कि इससे आपका भाग्य साथ देता है और दुर्भाग्य का सामना नहीं करना पड़ता है।

उपाय- 2

जो लोग शनि की साढ़े साती से परेशान हैं तो उन्हें काले तिल एवं काली उड़द की दाल को किसी काले कपड़े में बांधकर किसी गरीब व्यक्ति को दान कर देना चाहिए। इससे रुपए-पैसों से जुड़ी समस्याएं दूर होगी।

उपाय- 3

अगर आपके व्यापार में लगातार घाटा हो रहा तो रविवार को एक मुठठी काली उड़द लेकर ‘श्री’मन्त्र का जाप करें। अब इन अभिमंत्रित दाल को व्यवसाय स्थल पर 7 बार उतार कर बिखेर दें। अगले दिन मोरपंख की झाड़ू से दाल के इन दानों को इक्कट्ठा करके किसी चौराहे पर डाल दें। ऐसा करीब 7 रविवार करने से परेशानी दूर हो जाएगी और व्यापार में वृद्धि होगी।