तुलसी का पौधा लगभग हर घर में पाया जाता है। तुलसी का पौधा बुध का प्रतिनिधित्व करता है, जो भगवान कृष्ण का एक स्वरूप माना गया है। कई घरों में तुलसी की पूजा भी की जाती है लेकिन अगर तुलसी सही जगह ना रखी जाए तो ये अशुभ फल भी देती है। आइये जानते हैं कि वास्तु के अनुसार तुलसी का पौधा घर के किस कोने में रखना चाइये और इस रखते वक़्त क्या-क्या सावधानियां बरतनी चाहिए :

घर में इस दिशा में तुलसी लगाना होता है शुभ :

वास्तुशास्त्र के अनुसार उत्तर-पूर्व दिशा को धन के देवता कुबेर की दिशा मानी जाती है इसलिए घर की आर्थिक स्थिति में वृद्धि करने के लिए हो सकते तो तुलसी को उत्तर, उत्तर-पूर्व या पूर्व दिशा में लगाना चाहिए। इन दिशाओं में तुलसी का पौधा लगाने से घर में सकारात्मक ऊर्जा बानी रहती है और घर में धन-धान्य की कभी कमी नहीं होती।

तुलसी लगते समय भूल से भी न करें ये गलतियां :
  • तुलसी का पौधा घर के दक्षिणी भाग में नहीं लगाना चाहिए, घर के दक्षिणी भाग में लगा हुआ तुलसी का पौधा फायदे के बदले नुकसान पहुंचा सकता है। इस दिशा में लगी तुलसी से भाग्य नहीं दुर्भाग्य बढ़ सकता है।
  • तुलसी के पौधे के आसपास भूल से भी झाड़ू या डस्टबिन न रखें क्योंकि तुलसी को देवतुल्य माना जाता है।
  • जो लोग घर की छत पर तुलसी रखते हैं आमतौर पर उनकी कुंडली में एक दोष मिलता है जिसे प्राकृत दोष कहते हैं। प्रकृति से जो ऋण या दोष हमें मिलता है उसे प्राकृत दोष कहते हैं और इसका सीधा संबंध बुध से होता है। अगर आपके पास तुलसी जी को छत पर रखने के सिवाय कोई और जगह नहीं है तो एक विशेष उपाय जरूर करें। तुलसी को कभी भी अकेले ना रखें। हमेशा उसे केले के पौधे के साथ रखें। दोनों पौधे बिल्कुल साथ में रखें और इसे मौली से बांध लें। इससे आपको वास्तु दोष की हानि नहीं होगी।
तुलसी का धार्मिक महत्व :

शास्त्रों में कहा गया है कि तुलसी के पत्तों को रविवार, एकादशी और ग्रहण वाले दिन भूलकर भी नहीं तोड़ना चाहिए। भगवान विष्णु और श्रीकृष्ण की कोई भी पूजा तुलसी दल के बिना पूरी नहीं मानी जाती है। वहीं हनुमान जी को भी भोग में तुलसी दल बहुत ही प्रिय होती है। पुराणों में बताया गया है मृत्यु के समय गंगाजल संग तुलसी के पत्ते लेने से आत्मा को शान्ति और स्वर्ग की प्राप्ति होती है।

पूजा में कभी भी तुलसी के पत्ते और गंगाजल को बासी नहीं माना जाता। ये दोनों चीजें किसी भी परिस्थिति में बासी और अपवित्र नहीं मानी जाती। माना जाता है कि जिन घरों में रोजाना तुलसी की पूजा होती है वहां कभी यमदूत प्रवेश नहीं करते। इसके साथ ही घर की सुख-समृद्धि बनी रहती है।